Breaking परीक्षा परिणाम जारी करने किया प्रदर्शन तो पुलिस ने दर्ज किया बलवा का अपराध, मामला पुलिस भर्ती का..

रायपुर– पुलिस आरक्षक भर्ती का परिणाम जारी करने को लेकर प्रदर्शन करने वाले युवको पर पुलिस ने बलवा का अपराध दर्ज किया है। पुलिस भर्ती के परीक्षा परिणाम की मांग करते हुए बुधवार को राजधानी के बूढ़ा तालाब धरना स्थल मे परिवार सहित प्रदर्शन किया था।

जिस पर सिटी कोतवाली पुलिस ने आरक्षक शेख आसिफ की रिपोर्ट पर युवको के खिलाफ धारा 341 और 147 के अंतर्गत बलवा का अपराध पंजीबद्ध किया है। बुधवार को प्रदेश भर से बड़ी संख्या में आये युवाओ सरकार के खिलाफ हल्ला बोलते हुए विधानसभा घेराव करने निकले जिसे पुलिस ने रास्ते में रोक दिया जिससे कुछ देर के लिए ट्रैफिक प्रभावित हुआ था।

सरकार के खिलाफ हल्ला बोल
वर्ष 2018 -19 में पुलिस विभाग द्वारा निकले विज्ञापन के 2259 पर लगभग 62 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। परीक्षा लेने के बाद परिणाम जारी करने के पहले ही आचार सहिंता प्रभावशील हो गई। चुनाव के बाद प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होने से परीक्षा का परिणाम रुक गया। परीक्षार्थी लगातार सरकार से परिणाम जारी करने मांग करते रहे।

सरकार की अनदेखी से छुब्ध परीक्षार्थीयो ने उच्च न्यायालय में जनहित याचिका लगाई जिस पर कोर्ट ने 30 मई तक परिणाम जारी करने सरकार को निर्देश दिया। उसके बाद भी परिणाम जारी नहीं किया जा गया तो परीक्षार्थी सड़क पर उतर गए और राजधानी में अनिश्चितकालीन हड़ताल प्रारम्भ कर दिया जिसे अन्य राजनितिक दलों का समर्थन दिया था। उसके बाद भी परिणाम जारी नहीं हुआ।

विभाग ने कमाए करोडो
परीक्षार्थियों से विभाग ने करोडो रुपये कमाए।जानकारीनुसार एक आवेदन पर परीक्षार्थियों ने 250 से 400 रूपये खर्च किये थे और परीक्षा देने जाने का खर्च अलग। ऐसे में विभाग ने परीक्षा लेकर ही करोडो रुपये कमा लिए और परीक्षा देने वाले लाठी की मार खाते प्रदर्शन कर रहे है। सिटी कोतवाली टीआई आर के मिश्रा ने theindipendent.com कहा कि

“प्रदर्शन कर ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ने वालो पर अपराध पंजीबद्ध किया गया है। उनकी पहचान उस दौरान हुए वीडियो रिकॉर्डिंग से करेंगे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *