Election- ग्रामीण मतदाताओ को रिझाने मे लगे उम्मीदवार, सुबह से देर रात तक बन रही रणनीती

रायपुर – चुनाव की तारिख नजदीक आने के साथ ही राजनितिक सरगर्मी बढ गई है। भाजपा और कांग्रेस दोनो पार्टी के उम्मीदवार प्रचार मे पसीना बहा रहे है। उम्मीदवारो की नजर ग्रामीण मतदाताओ पर है, सुबह से देर रात तक दोनो ही उम्मीदवार दुरस्थ गांवो मे जाकर प्रचार कर रहे है। भाजपा उम्मीदवार सुनील सोनी सुबह से देर रात तक रायपुर लोकसभा के विभिन्न गांवो मे दौरा कर रहे है तो बुथ स्तर के कार्यकताओ को चुनाव संचालक पुर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल सहेज रहे है।

रायपुर लोकसभा अंतर्गत 9 विधानसभा आते है वहां एक दौर का प्रचार सुनील सोनी कर चुके है। गांव गांव मे पार्टी का चुनावी बैनर और झंडा पहुचाया जा रहा है। चुनावी कार्यालय मे सुबह से लेकर रात 3 बजे तक कार्यकर्ताओ की भीड रहती है। चुनाव व्यवस्था के लिये दर्जन भर से अधिक कार्यकर्ताओ की टीम बनाई गई है जो सोनी के साथ गांवो मे जनसंपर्क के दौरान रहकर पुरा व्यवस्था देखते है। भाजपा के चुनाव संचालक बृजमोहन अग्रवाल कार्यालय मे स्वयं चुनावी कार्यो की निगरानी कर रहे है।

वही कांग्रेस उम्मीदवार प्रमोद दुबे का जनसंपर्क सुबह 7 बजे से प्रारंभ होती है जो देर रात 2 बजे तक चल रही है। प्रमोद दुबे ने एक दौर का प्रचार पुरा कर लिया है, रायपुर लोकसभा के 9 विधानसभा क्षेत्रो मे कार्यकर्ताओ की बैठक ले चुके है। बीते चार दिनो से भाठापारा, तिल्दा, बलौदाबाजार और बिलाईगढ क्षेत्रो मे जनसंपर्क कर लौटे है। कांग्रेस के केन्द्रीय चुनाव कार्यालय मे सुबह से देर रात तक कार्यकर्ताओ की भीड जुटी रहती है जहां देर रात अगले दिन की रूपरेखा तय की जाती है। नवरात्रि के बाद चुनाव प्रचार मे और तेजी आयेगी। दोनो ही पार्टी के नेता अंतिम दिनो मे शहरी क्षेत्रो मे रैली और रोड शो कर लोगो के बीच पहुचेगी।

बडे नेता व कार्यकर्ता नाराज:– चुनाव मे जहां उम्मीदवार पसीना बहा रहे है वही कार्यकर्ताओ और पार्टी के बडे नेता नाराज है। भाजपा के कुछ नेता टिकट ना मिलने से नाराज है तो कुछ पार्टी संगठन मे तवज्जो ना मिलने से। वही कांग्रेस मे उपरी तौर पर सब सही है पर अंदरूनी खाने मे भीतरघात की संभावना है। मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के अनुशासन और सख्त रवैये को देखकर कोई भी हिम्मत नही कर पा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *